NEET EXAM SCAM: re-exam, paper leak.

NEET 2024 पर लगे 4 गंभीर आरोप, अब NTA ने हर एक पर दी स्पष्टीकरण।

नीट 2024 स्कैम की नवीनतम खबर: नीट पर ताज़ा समाचार आया है। नीट 2024 स्कैम मामले में NTA ने अपनी स्पष्टीकरण जारी किया है। एनटीए ने neet.nta.nic.in 2024 नोटिस के माध्यम से नीट परीक्षा और नीट 2024 के परिणाम पर लगे आरोपों का जवाब दिया है। यहाँ, हर आरोप और उसके खिलाफ nta.ac.in द्वारा दी गई स्पष्टीकरण दिया गया है। 

NEET समाचार आज: देश की सबसे बड़ी और दूसरी सबसे मुश्किल परीक्षा NEET UG पर अब बवाल रुकने का नाम नहीं ले रहा है। 5 मई को NEET परीक्षा के दिन से ही NEET Exam 2024 पर एक-एक करके बड़े संगीन आरोप लग रहे हैं। पहले NEET पेपर लीक हुआ और अब NEET रिजल्ट स्कैम का मामला। अंत में NTA ने अपनी चुप्पी तोड़ी है और NEET 2024 पर आरोपों का जवाब दिया है। इसे एनटीए की स्पष्टीकरण भी कहा जा सकता है। कुल 4 बड़े आरोप हैं और उन सभी पर एनटीए का जवाब आया है। आप भी समझ लें।

1.पहला आरोप- NEET Cut Off 2024 इतना हाई कैसे?


मेडिकल प्रवेश के लिए नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट, यानी नीट की शुरुआत के बाद से पहली बार कटऑफ इतनी उच्च गई है। इस पर NTA ने कहा है - 'नीट कटऑफ उम्मीदवारों के समग्र प्रदर्शन पर निर्भर होता है। कटऑफ बढ़ने का अर्थ है कि परीक्षा प्रतिस्पर्धात्मक थी और छात्रों ने अधिक अच्छा प्रदर्शन किया।

बीते वर्षों में इस प्रकार रही है नीट कटऑफ...


years   A.V marks      Qua. marks

   2020        297.18                               147
   
   2021        286.13                               138

   2022        259                                     117

   2023        279.41                                137
 
   2024        323.55                                164

2.दूसरा आरोप- 719 और 718 नंबर कैसे मिले?

नीट में कुल मार्क्स 720 होते हैं। प्रत्येक सवाल का मूल्य 4 अंक का होता है। गलत उत्तर के लिए 1 अंक काटा जाता है। अगर किसी छात्र ने सभी सवालों के सही उत्तर दिए हैं तो उन्हें 720 में से 720 मिलेंगे। अगर कोई सवाल छूट गया है, तो 716 मिलेंगे। अगर कोई सवाल गलत हो गया है, तो उन्हें 715 मिलेगे। लेकिन 718 या 719 कैसे मिल सकते हैं?
nta.ac.in पर जवाब में कहा गया है कि- 'पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ हाईकोर्ट में कई याचिकाएं लगाई गईं जिनमें बच्चों ने 5 मई की परीक्षा में कुछ सेंटर्स पर समय बर्बाद होने की शिकायत की थी। एनटीए ने सीसीटीवी फुटेज चेक करने और जांच करने के बाद पाया कि कैंडिडेट्स की गलती नहीं थी। इसलिए, सुप्रीम कोर्ट के 13 जून 2018 के जजमेंट के आधार पर उन बच्चों को लॉस ऑफ टाइम के लिए कंपनसेटरी मार्क्स दिए गए। 718 और 719 पाने वाले दो कैंडिडेट उन्हीं में से हैं।

3.तीसरा आरोप- 6 NEET Topper एक ही एग्जाम सेंटर से कैसे?

नीट टॉपर लिस्ट PDF में 6 कैंडिडेट का रोल नंबर सीरीज एक ही है, जिसका मतलब उनका नीट परीक्षा केंद्र एक ही था। इनमें से 4 को टोटल 720, 1 को 719 और एक को 718 अंक मिले हैं। आरोप लगा है कि - उस सेंटर पर जरूर कुछ गड़बड़ी की गई है। इसके जवाब में NTA ने कहा है -
नीट आंसर-की 2024 में फिजिक्स के एक सवाल पर 13,373 चैलेंज मिले थे। इसका कारण NCERT की नई और पुरानी किताब थी। विषय विशेषज्ञों ने एक के बजाय दो ऑप्शन को सही बताया। टॉप करने वाले 67 में से 44 को रिवाइज्ड आंसर-की मिली और 6 को समय गंवाने के कारण NEET Compensatory Marks दिए गए। नीट टॉपर्स पूरे देश से आए हैं।

4.चौथा आरोप- NEET Paper Leak 2024 केस..

परीक्षा के दिन ही नीट पेपर लीक की खबरें आने लगीं। बिहार समेत अन्य राज्यों में जांच भी शुरू हो गई, जो अब भी जारी है। लेकिन एनटीए ने इन आरोपों को तब खारिज कर दिया था। अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने कहा है-

'एनटीए ने गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ केस दर्ज किए हैं। कुछ केस राज्यों की पुलिस के पास भी दर्ज हैं। जहां भी जरूरत है, एनटीए इन जांच एजेंसियों को NEET UG 2024 Cases के मामलों में पूरा सहयोग दे रहा है। हालांकि, इन इन्वेस्टिगेशंस के नतीजे आने अभी बाकी हैं। एनटीए पेपर लीक का कोई भी मामला नकारता है।'
Next Post Previous Post
Telegram Group Join Now